Congratulations New Links Are Unlocked Now. You can Get your From Below Link.

Created on - 14 May, 2024
View - 147

At Gyanigurus, we take great pride in providing premier link protection services on a global scale. Our team of experts have carefully designed a proprietary link sharing algorithm, which ensures that your links maintain their optimal speed while bypassing excessive resource consumption and inappropriate practices.


Sikkim Ke Bare Mein Jankari Hindi Me | History | Sankruti

Know About Sikkim

Sikkim Ke Bare Mein Jankari Hindi Me :

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करने वाले है एक बेहद ही खूबसूरत, प्राकृतिक सौन्दर्य और पहाड़ो से लेज एक राज्य Sikkim जी हा दोस्तों आज हम जानेंगे Sikkim के इतिहास के बारे में, सिक्किम की स्थापना कब हुई इस राज्य की भाषाए, संस्कृति, धर्म और मनाने वाले त्योहारों के बारे में तो चलिए शुरू करते है.

सिक्किम राज्य भारत के उत्तरपूर्वी भाग में, पूर्वी हिमालय में स्थित है। यह भारत के सबसे छोटे राज्यों में से एक है. सिक्किम की सीमा उत्तर और उत्तर पूर्व में चीन के तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र से, दक्षिण-पूर्व में भूटान से, दक्षिण में भारतीय राज्य पश्चिम बंगाल और पश्चिम में नेपाल से लगती है. राज्य के दक्षिणपूर्वी भाग में सिक्किम की राजधानी गंगटोक है.

पूर्वी हिमालय का एक हिस्सा, सिक्किम अपनी जैव विविधता के लिए जाना जाता है, जिसमें अल्पाइन और उपोष्णकटिबंधीय जलवायु शामिल हैं, साथ ही कंचनजंगा का मेजबान होने के नाते, भारत में सबसे ऊंची चोटी और पृथ्वी पर तीसरी सबसे ऊंची चोटी है. राज्य का लगभग 35% भाग खांगचेंदज़ोंगा राष्ट्रीय उद्यान से आच्छादित है.

लंबे समय तक एक संप्रभु राजनीतिक इकाई, सिक्किम 1950 में भारत का संरक्षक और 1975 में एक भारतीय राज्य बन गया. इसके छोटे आकार के बावजूद, सिक्किम अपनी अंतरराष्ट्रीय सीमाओं के साथ अपने स्थान के कारण भारत के लिए इसका महत्व बेमिसाल है.

सिक्किम का इतिहास :

वैसे सिक्किम के इतिहास की बात करे तो वह 350 साल पुराना है. इसके प्रथम शासक थे फुन्त्सोंग नाम्ग्याल जिन्हे तिब्बती बौद्ध लामाओं ने राजा घोषित किया था. सन 1970 ईस्वी के दौरान यहाँ पे गृहयुद्ध छिड़ गया जिसके बाद सिक्किम भारत का 22 वा राज्य बना इसके लिए तक़रीबन 97 % लोगो ने अपनी रजामंदी दी.

सिक्किम के बारे में कुछ जानकारी :

राजधानी – गंगटोक
क्षेत्रफल –  7096 वर्ग कि.मी.
जनसंख्या – 540493
साक्षरता - 82.20%
जनसंख्या  –  86%
कुल जिले  - 4
सिक्किम का राज्य पशु – लाल पाण्डा
सिक्किम का राज्य पक्षी – रक्त महूका
सिक्किम का राज्य वृक्ष – बरुंश
सिक्किम का राज्य फूल – पीनशिफ
मुख्य भाषा – लेपचा, हिंदी, भूटिया, नेपाली

सिक्किम के जिले के बारे में जानकारी :

सिक्किम में कुल चार जिले हैं।

1.) पूर्वी सिक्किम जिला,
2.) उत्तर सिक्किम जिला ,
3.) दक्षिण सिक्किम जिला,
4.) पश्चिम सिक्किम जिला।

 जिले की राजधानियाँ क्रमशः गंगटोक, मंगन, नामची और ग्यालशिंग हैं। इन चार जिलों को आगे 16 अनुमंडलों में बांटा गया है; पाक्योंग, रोंगली, रंगपो और गंगटोक पूर्वी जिले के उपखंड हैं। सोरेंग, युकसोम, ग्यालशिंग और डेंटम पश्चिम जिले के उपखंड हैं। चुंगथांग, द्ज़ोंगु, काबी और मंगन उत्तरी जिले के उपखंड हैं। रावोंगला, जोरेथांग, नामची और यांगयांग दक्षिण जिले के उपखंड हैं

सिक्किम की संस्कृति के बारे में जानकारी :

सिक्किम में महत्तम रूप से भूटिया, नपाली, और लेपचा समुदाय के लोग रहते है यही कारण है जिसकी वजह से यहाँ पे समिश्रित संस्कृति देखने को मिलती है.

सिक्किम की भाषाओ के बारे में जानकारी :

हिंदी, लेपचा, खस, अंग्रेजी, भूटिया,लिंबू जैसी भाषाए मुख्य तौर पे यहाँ पर बोली जाती है इसके अलावा सिक्किम की आधिकारिक भाषा हिंदी है.

सिक्किम के मुख्य त्योहार :

अगर प्रमुख त्योहारों की बात करे तो अन्य राज्यों की भांति यहाँ पर दीपावली, संक्रांति, राम नवमी और दशहरा जैसे त्यौहार मनाये जाते है, इसके अलावा यहाँ के लोग तिब्बती नव वर्ष बहुत ही उत्साह पूर्वक मानते है. 

सिक्किम पर्यटन के स्थलों के बारे में जानकारी :

ये सब बात हुई तो सिक्किम के जिले, राजधानी, संस्कृति, भाषाओ के बारे में इसके अलावा इस राज्य जाना जाता है अपने प्राकृतिक सुंदरता, दर्शनीय घाटियों, मनोहर पर्वतमाला के लिए जो पुरे विश्व में प्रसिद्ध है. अगर सिक्किम के पर्यटन स्थलों की बात करे तो यहाँ पे बहुत सारे प्राकृतिक स्थल है जैसे, 

1. एनके मोनास्ट्री या गुम्फा 
2. नाथूला दर्रा (Nathula Pass) -
3. फ़ोदन मोनास्ट्री -
4. रुमटेक मोनास्ट्री गुफा -
5. लाचुंग -
6. सोमगो झील (Tsomgo Lake) -
7. खेचियोपलरी लेक -
8. पश्चिम सिक्किम का गेजिंग शहर -
9. केचुपेरी -
10. बौद्ध विहार -
11. गुरुडांगमार सरोवर - 

तो यह थी जानकारी सिक्किम की स्थापना, संस्कृति, भाषाओ, धर्म, त्यौहार, जिले और रहनसहन के बारे में इस राज्य के लोग, यहाँ की प्रकृति, यहाँ का रहनसहन ही इस राज्य को सबसे अलग और बेहतरीन बनाता है.

अगर यह पोस्ट आपको  पसंद आयी है तो इसको शेयर करना ना भूले और कमेंट में आपके विचार बताये और हमारे सोशल मीडिया पर भी हमें फॉलो करे. धन्यवाद 

Top